Ssumit Sarkar
@sumitsarkar999 · 2:32

उलफत का पैमाना

स्वल के सभी साथियों। मित्रों। और मेरी बहनों को संध्याकालीन का नमस्कार प्रणाम। आदाब। और हमारे छोटे मित्र बंधुओं को मेरा ढेर सारा प्यार। इधर। काफी दिनों से मैं आप लोगों के साथ मैं फिर नहीं जमा पा रहा हूँ। कुछ अपने निजी जीवन की व्यस्तता के खातिर। लिख जरूर रहा हूं। लेकिन उसे आपके साथ साझा करने में, थोड़ा, सा समय की कमी की वजह से नहीं कर पाया। तो आज आपके सामने मैं प्रस्तुत कर रहा हूँ अपनी 1 कविता। जिसका शीर्षक है उल्फत का पैमाना। कल वाली। मेरी मासूमियत का आकलन कर।

#poetry #poems #reality


0:00
0:00