बेटियों को अधिकार दे दो

तेरा स्पर्श पा कर। मैं तेरा स्पर्ष। पाकर मैं चैन की नींद? सो जाऊंगी, अपनी गोद में छिपा लो, मां अपनी गोद में छिपा लो, मां हर संकट से मुझे बचा लो। मां बहुत देर हो गयी। पापा। बहुत देर हो गई। पापा मेरे अस्तित्व को 1 पहचान दे। 2 बहुत देर हो गयी। पापा मेरे अस्तित्व को। 1 पहचान दे। 22 मैं भी तो हूँ, अंश तुम्हारा मैं भी तो मैं भी तो हूं। अंश तुम्हारा अपने कोख में। मत मारो। आने। 2 इस विश्व में। मुझे भी आने।

# swell talk #my new poem @spane23