Hema Dalakoti

@hgdshots

कागज़ के दो पंख ले के उड़ा चला जाए रे जहाँ नहीं जाना था ये वहीं चला हाय रे उमर का ये ताना-बाना समझ न पाए रे ज़ुबाँ पे जो मोह-माया नमक लगाये रे के देखे ना, भाले ना, जाने ना, दाये रे दिशा हारा

 
0:000:00

Download the Swell App

Reply, Like and Post

Share

Link

https://www.swellcast.com/listid
Copy

Embed in website

Copy